+7 Votes
545 Views
in Geography by (3.5k Points)
ओजोन मंडल क्या है? इसके महत्व पर प्रकाश डालें। Ozone Mandal Kya Hai? Iske Mahatva Par Prakash Dalen. Or, What is Ozone Mandal in Hindi?

2 Answers

+2 Votes
by (30.9k Points)
 
Best Answer

ओजोन गैस (O3), ऑक्सीजन (O2) का ऑक्सीकृत रूप है, जिसके एक अणु में ऑक्सीजन के तीन परमाणु (Atom) होते हैं।

यह नीले रंग की तीक्ष्ण गंध वाली गैस है। पृथ्वी से लगभग 25 से 40 किलोमीटर की ऊँचाई पर ओजोन की एक लगभग 3 मिलीमीटर मोटी परत है, जिसे ओजोन मण्डल (Ozone Mandal) के नाम से जाना जाता है।

ओजोन मण्डल पृथ्वी का रक्षा कवच है। सूर्य से आनेवाली घतक पराबैंगनी किरणों (Ultraviolet Rays) का अधिकांश भाग ओजोन मण्डल द्वारा अवशोषित कर लिया जाता है, अन्यथा पृथ्वी पर जैव-संकट उत्पन्न हो जाता।

पराबैंगनी किरणों के प्रभाव से तरह-तरह के नेत्र-रोग (Eye Disease), चर्म रोग (Skin Disease) आदि हो जाते हैं। अत: यह ओजोन मण्डल घातक अंतरिक्ष किरणों से हमारा बचाव करता है।

ओजोन मण्डल के लिए सर्वाधिक घातक क्लोरो-फ्लोरो कार्बन (CFC) है।

जब CFC वायुमण्डल में मुक्त होते हैं, तो सीधे वायुमण्डल की ऊपरी सतह पर पहुँच जाते हैं।सूर्य की पराबैंगनी किरणें सी.एफ.सी. को तोड़ देती है।

इस प्रकार पृथक् हुई क्लोरीन ओजोन मण्डल के लिए घातक हो जाती है। यह क्लोरीन (Cl - Chlorine) ओजोन से क्रिया कर ऑक्सीजन बनाती है।

ऑक्सीजन स्वयं तो सूर्य की पराबैंगनी किरणों से हमारी रक्षा नहीं करती, दूसरी इस प्रक्रिया से ओजोन के हजारों अणु (Molecule) टूटते हैं और ओजोन मण्डल नष्ट होने लगता है।

ओजोन मण्डल में जहाँ ओजोन नष्ट हो जाता है, वहाँ एक छिद्र बन जाता है, जिसे ओजोन छिद्र (Ozone Hole) कहा जाता है।

ओजोन मण्डल को हानि पहुँचाने वाले अन्य कारकों में वनों का विनाश, परमाणु बमों का विस्फोट, अंतरिक्ष अनुसंधान आदि भी उल्लेखनीय हैं।

+2 Votes
by (3.5k Points)

ओजोन मंडल (Ozone Sphere) : ओजोन मंडल समताप मंडल के ऊपर 48 km. मोटी परत के रूप में विद्यमान रहता है। इसका विस्तार पृथ्वी तल से 32-80 km. के बीच पाया जाता है।

समताप मंडल तथा ओजोनमंडल के बीच एक समताप सीमा मिलती है, जो इन दोनों स्तरों के बीच संक्रमण सीमा का काम करती है।

इस सीमा के ऊपर की ओर धीरे-धीरे तापमान बढ़ना प्रारम्भ कर देता है। ओजोन गैस की प्रधानता के कारण ही इस स्तर का नाम ओजोनमंडल (Ozone Mandal) रखा गया है।

सूर्य से आने वाली पराबैंगनी किरणों (Ultraviolet Rays) को यह अवशोषित करके सोख लेती है। मानव तथा जन्तुओं के शरीर में विटामिन-डी (Vitamin-D) के निर्माण के लिए इसकी अल्प यात्रा आवश्यक है।

इस किरण की अधिक मात्रा जीवमंडल (Biosphere) के लिए विनाशकारी साबित होती है। मनुष्य में यह त्वचा कैंसर, मोतियाबिन्द तथा अंधापन पैदा कर सकता है।

CFC Gas इस ओजोन परत को नष्ट करता है जिसका प्रयोग हम रेफ्रीजरेटरों (Refrigerator) में करते हैं।

अत: हमें CFC (Chloro-Fluoro Carbon) मुक्त वातावरण बनाने में सहायता करनी चाहिए। दक्षिण ध्रुव (South Pole) के निकट 2 लाख 40 हजार वर्ग किलोमीटर में ओजोन परत में छेद हो जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है। उत्तरी ध्रुव के पास ग्रीनलैण्ड के ऊपर भी ओजोन परत पतला होने लगा है।

Related Questions

+5 Votes
1 answer 75 Views
Peddia is an Online Hindi Question and Answer Website, That Helps You To Prepare India's All States Board Exams Like BSEB, UP Board, RBSE, HPBOSE, MPBSE, CBSE & Other General Competitive Exams.
If You Have Any Query/Suggestion Regarding This Website or Post, Please Contact Us On : [email protected]

Connect us on Social Media

Categories

21.4k Questions

19.0k Answers

13 Comments

520 Users

DMCA.com Protection Status
...