+4 Votes
122 Views
in History by (29.8k Points)
1857 की क्रांति के असफलता के कारणों को लिखें। 1857 Ki Kranti Ke Asafalta Ke Karno Ko Likhen. Or, Write the Causes of the Failure of Movement of 1857 in Hindi?

1 Answer

+2 Votes
by (29.8k Points)
 
Best Answer

1857 की क्रांति की असफलता के कारण - 1857 ई. के प्रथम स्वतन्त्रता संग्राम का उद्देश्य अन्यायी और अत्याचारी अंग्रेज शासकों को भारत माता की पावन भूमि से सदा के लिए निकाल बाहर करना था। परन्तु, यह संग्राम अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल नहीं हो सका।

इसकी असफलता के कुछ प्रमुख कारण निम्नांकित थे-

  1. निर्धारित तिथि से पहले ही प्रारम्भ - 1857 ई. के प्रथम स्वतन्त्रता संग्राम की असफलता का एक महत्त्वपूर्ण कारण यह था, कि यह 31 मई, 1857 ई. की निश्चित तिथि के पूर्व ही 20 मार्च 1857 ई० को ही शुरू हो गयी। ऐसी स्थिति में क्रान्ति की उचित नेतृत्व और संगठित स्वरूप नहीं प्राप्त हो सका।
  2. स्वरूप स्थानीय - 1857 ई. का प्रथम स्वतंत्रता संग्राम अपने स्थानीय स्वरूप के कारण भी असफल हो गया। वह राष्ट्रव्यापी नहीं हो सका। सिन्ध, राजपूताना, अफगानिस्तान, बंगाल आदि का क्षेत्र पूर्णतया शान्त रहा और गोरखों तथा सिक्खों ने तो अंग्रेजों को ही सहायता पहुँचायी।
  3. सफल नेतृत्व का अभाव - 1857 ई. के स्वतन्त्रता संग्राम की असफलता का एक प्रमुख कारण यह था, कि इसे सफल नेतृत्व नहीं प्राप्त हो सका। संग्राम के सर्वमान्य नेता बहादुरशाह जफर को अंग्रेजों ने कैद कर रंगून भेज दिया। रानी लक्ष्मीबाई, नाना साहब और ताँत्या तोपे ने क्रांति का नेतृत्व अपने-अपने ढंग से किया। इसके विपरीत अंग्रेज सेनापति ने काफी अनुभवी और अपने सफल नेतृत्व के कारण क्रांति को निर्ममतापूर्वक कुचल दिया।
  4. निश्चित लक्ष्य का प्रभाव - बहादुरशाह जफर, वीर कुँवर सिंह, झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई आदि ने 1857 ई. के संग्राम में किसी एक निश्चित उद्देश्य के लिए नहीं बल्कि अपने व्यक्तिगत स्वार्थी के कारण भाग लिया। एक निश्चित उद्देश्य के अभाव के कारण क्रांति को एक उचित दिशा नहीं दी जा सकी।
  5. सीमित साधन - 1857 ई. के संग्राम की विफलता का एक प्रमुख कारण यह था, कि क्रांतिकारियों के साधन अंग्रेजों की तुलना में काफी सीमित और अल्प विकसित थे। क्रांति के प्रारम्भिक चरण में तो क्रांतिकारी के पास कुछ धन भी था। बाद में तो धन की भी काफी कमी हो गयी थी।
  6. जनसाधारण की उपेक्षा - 1857 ई. की क्रांति की विफलता का एक महत्त्वपूर्ण कारण यह था, कि भारतीय जनता का एक बहुत बड़ा भाग इनमें भाग नहीं ले सका। यद्यपि क्रांतिकारियों ने कृषक वर्ग तथा सर्वसाधारण वर्ग को क्रांति में भाग लेने का आह्वान किया तथापि उस वर्ग का सहयोग नहीं प्राप्त हो सका।

Related Questions

Peddia is an Online Hindi Question and Answer Website, That Helps You To Prepare India's All States Board Exams Like BSEB, UP Board, RBSE, HPBOSE, MPBSE, CBSE & Other General Competitive Exams.
If You Have Any Query/Suggestion Regarding This Website or Post, Please Contact Us On : [email protected]

Connect us on Social Media

Categories

19.6k Questions

17.5k Answers

10 Comments

336 Users

DMCA.com Protection Status
...