लोहे के दो छोटे कण जिनमें प्रत्येक का द्रव्यमान 0.28 ग्राम है, परस्पर 10 सेमी की दूरी पर स्थित हैं। यदि एक कण के 0.01% इलेक्टॉन दूसरे कण पर स्थानान्तरित किये जायें तो उनके बीच विद्युत बल कितना होगा?
184 views
8 Votes
8 Votes

लोहे के दो छोटे कण जिनमें प्रत्येक का द्रव्यमान 0.28 ग्राम है, परस्पर 10 सेमी की दूरी पर स्थित हैं। यदि एक कण के 0.01% इलेक्टॉन दूसरे कण पर स्थानान्तरित किये जायें तो उनके बीच विद्युत बल कितना होगा?

(लोहे का परमाणु भार 56 ग्राम/मोल तथा लोहे का परमाणु-क्रमांक 26 है। आवोगाद्रो संख्या N = 6x1023 प्रति मोल)

1 Answer

2 Votes
2 Votes
 
Best answer

लोहे का परमाणु भार 56 ग्राम/मोल है। इसलिए 56 ग्राम लोहे में 6 × 1023 परमाणु है।अतः 0.28 ग्राम लोहे की परमाणु संख्या

RELATED DOUBTS

Peddia is an Online Question and Answer Website, That Helps You To Prepare India's All States Boards & Competitive Exams Like IIT-JEE, NEET, AIIMS, AIPMT, SSC, BANKING, BSEB, UP Board, RBSE, HPBOSE, MPBSE, CBSE & Other General Exams.
If You Have Any Query/Suggestion Regarding This Website or Post, Please Contact Us On : [email protected]

CATEGORIES