+2 Votes
1 view
in Civics by (85.4k Points)
चार्टर अधिनियम 1858 ई0 के बारे में आप क्या जानते हैं? Or, Charter Adhiniyam 1858 Ke Bare Mein Aap Kya Jante Hain?

1 Answer

+1 vote
by (85.4k Points)
 
Best Answer

1857 ईसवी में भारत में हुए सैनिक विद्रोह के तत्काल बाद पारित इस अधिनियम के द्वारा-

  1. भारत का शासन कंपनी से छीन कर सीधे ब्रिटिश क्राउन (महारानी) के हाथों में सौंप दिया गया।
  2. बोर्ड ऑफ कंट्रोल तथा कोर्ट ऑफ डायरेक्टर्स के दोहरे प्रशासन को समाप्त कर भारत में मंत्री परिषद की नियुक्ति की गई।
  3. मुगल सम्राट के पद को समाप्त कर दिया गया।
  4. 15 सदस्यों की भारत-परिषद का गठन कर सत्ता में कुछ भारतीयों को भी और प्रत्यक्ष भागीदारी देने की व्यवस्था की गई जिनमें से 8 सदस्य ब्रिटिश सरकार द्वारा तथा 7 सदस्य कंपनी के निदेशक मंडल द्वारा चयनित किए जाने की व्यवस्था हुई।
  5. भारतीय मामलों पर ब्रिटिश संसद का प्रत्यक्ष नियंत्रण हो गया।
  6. ब्रिटिश मंत्रिमंडल में भारत का राज्य सचिव Secretary of State for India) के रूप में एक पद सृजित किया गया उसे भारत में शासन-संचालन हेतु उत्तरदायी बनाया गया। 
  7. अपराध विधान संहिता लागू की गई। 
  8. व्यपगत सिद्धांत (Doctrine of Lapse) यानी राज्य- विलय की नीति को समाप्त कर दिया गया।
  9. इस अधिनियम के द्वारा भारत के गवर्नर जनरल का नाम बदलकर वायसराय कर दिया गया जिससे उस समय के गवर्नर जनरल लॉर्ड कैनिंग अंतिम गवर्नर तथा प्रथम वायसराय बने।

Related Questions

5.0k Questions

4.9k Answers

0 Comments

31 Users

...